उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल एवम् प्रयागराज ज़िला महानगर उद्योग व्यापार मंडल का 50 वर्ष पूर्ण, दीपोत्सव कर धूमधाम से मनाया गया 50 वें स्वर्ण जयंती वर्ष

0
110

उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल,और प्रयागराज ज़िला महानगर उद्योग व्यापार मंडल के 50 वें स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष में व्यापारियों द्वारा नगर के ह्रदय स्थली चौक शहीद स्थल नीम का पेड़ जिसपर अग्रेजों द्वारा स्वतंत्रता आंदोलन से जुड़े 800 सेनानियों को सार्वजनिक तौर पर फांसी पर लटकाया गया था, उक्त स्थान पर भव्य दीपोत्सव का कार्यक्रम मनाया गया, संरक्षक/अध्यक्ष राजीवकृष्ण श्रीवास्तव बंटी भैया, ने भव्य कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बताया की उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल (24 दिसंबर 1973) और प्रयागराज ज़िला महानगर उद्योग व्यापार मंडल 26 जनवरी 1974 की स्थापना में लाला विशंभर दयाल लखनऊ एवं पंडित श्याम बिहारी मिश्रा कानपुर, तत्कालीन इलाहाबाद से परम आदरणीय प्रेमचंद गुप्त, स्वतंत्रता सेनानी स्व० रामकृष्ण श्रीवास्तव, स्व० रामचंद्र जायसवाल सहित सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश से 27 प्रमुख व्यापारी नेताओं के द्वारा की गई थी, तत्पश्चात उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल का विस्तार करते हुए भारतीय उद्योग व्यापार मंडल का भी गठन किया गया,जो संपूर्ण देश के सभी राज्यों में प्रमुखता से कार्यरत एवं व्यापारियों के लिए संघर्षरत है इसी संदर्भ में देश और प्रदेश के प्रत्येक नगर/ जिला तहसील एवं कस्बों में दीपोत्सव का कार्यक्रम बड़े हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है I उन्होंने बताया तब से लेकर अब तक व्यापारियों पर उत्पीड़नात्मक कार्यवाही, अनेकों सरकारी कर्मचारियों द्वारा किए गए उत्पीड़न, सर्वे एवं छापो के विरोध में उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल अपने व्यापारी भाइयों के इस उत्पीड़न को रोकने के लिए लगातार संघर्षरत है और अनेको बार स्थानीया,प्रदेश, राष्ट्रीय स्तर पर बड़ी बड़ी सफलताए भी हमें प्राप्त होती रही हैं,वरिष्ठ व्यापारी नेता बंटी भैया ने बताया कि हमारा संगठन इस स्वर्णिम वर्ष को पूरे वर्ष भर विभिन्न आयोजनों द्वारा संचालित किया जाएगा, विभिन्न कार्यक्रमों के साथ ही प्रयागराज सहित जनपदों के लिए इसी दौरान वर्ष 2023 में व्यापारी स्वाभिमान यात्रा डिजिटल “व्यापारी स्वाभिमान रथ” के साथ पूरे प्रदेश में जाएगी,कानपुर, लखनऊ प्रयागराज,वाराणसी, सभी महानगरों में एक “व्यापारी महाकुंभ” प्रदेश स्तर पर आयोजित किया जाएगा, व्यापार मण्डल 50वर्षों की इस संघर्ष पूर्ण यात्रा में अनेकों व्यापारियों ने बलिदान दिया, सर्वे छापे के विरोध की गाथा लखनऊ के अमीनाबाद में हरिश्चंद्र अग्रवाल के बलिदान से व्यापारियो के लहू से लिखी गई। पण्डित श्याम बिहारी मिश्रा ने आवश्यक वस्तु अधिनियम के शोषण को लेकर तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई जी की सरकार जिसमें वे स्वयं सांसद थे विरोध का बिगुल फूंक दिया, परिणाम स्वरुप बिल संसद के पटल पर ही नहीं रखा जा सका, और उसपर हमे उल्लेखनीय सफलता मिली।
आज ही व्यापार मण्डल के प्रदेश अध्यक्ष मुकुंद मिश्रा के नेतृत्व में सभी जनपदों में भी यह दीपोत्सव धूम धाम से मनाया जा रहा है, कार्यक्रम का संचालन करते हुए जिलाध्यक्ष अनूप वर्मा ने बताया की सम्पुण देश और प्रदेश में कार्यरत प्राचीनतम संगठन के सभी 27 संस्थापक सदस्यों और उनके परिवारिक जनों को सम्मानित करने का भी कार्य किया गया जिसके अंतर्गत प्रयागराज से प्रेमचंद गुप्त को पत्नी सहित अंग वस्त्र और माल्यार्पण अर्पित कर प्रतीक चिन्ह सौंपा गया इसी क्रम में संस्थापक सदस्य स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रामकृष्ण श्रीवास्तव के कनिष्ठ भ्राता विजय नारायण श्रीवास्तव को भी अंगवस्त्रम माल्यार्पण एवं प्रतीक चिन्ह से सम्मानित किया गया साथ ही इसी क्रम में जनपद के तीसरे संस्थापक सदस्य रामचंद्र जायसवाल के परिवार को भी मुख्य रूप से से सम्मानित किया गया, सम्मानित करने वालों में कोषाध्यक्ष राजेश केसरवानी महानगर महामंत्री निखिल पांडेय एडवोकेट, महिला जिला अध्यक्ष जूही जायसवाल, युवा जिला अध्यक्ष पंकज कुमार श्रीनेत्र, युवा महानगर अध्यक्ष गौरव करवरिया, युवा महामंत्री अंकित गुप्ता, मुकेश गुप्ता, अभिषेक केसरवानी, वंदना पांडेय,भावना गौर ने सक्रिय की भूमिका निभाई,
कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रदेश उपाध्यक्ष एवं महानगर अध्यक्ष राजीवकृष्ण श्रीवास्तव, जिलाध्यक्ष अनुप वर्मा, आदि सैकड़ों व्यापारियो ने प्रतिभाग किया। कार्य क्रम के अंत में सिक्किम हादसे के शहीदो हुए को भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here