उद्यान विभाग द्वारा कृषकों को मशरूम यूनिट स्थापना पर दिया जा रहा 22 लाख रूपये का अनुदान

0
109

मोहम्मद फिरोज़ प्रतापगढ

प्रतापगढ़। एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजनान्तर्गत वर्ष 2021-22 में स्थापित सीता देवी ग्राम-कौलापुर नन्दपट्टी एवं कंचन सिंह ग्राम-गोबरी के मशरूम कम्पोस्ट यूनिट,मशरूम उत्पादन इकाई एवं मशरूम स्पान मेकिंग यूनिट का संयुक्त निरीक्षण दल द्वारा स्थलीय सत्यापन किया गया जिसमें संयुक्त निदेशक (शाकभाजी) निदेशालय उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग उ0प्र0 लखनऊ के डॉ0 बी0बी0 द्विवेदी, उप कृषि निदेशक रघुराज सिंह उप निदेशक उद्यान प्रयागराज मण्डल प्रयागराज उमेश चन्द्र उत्तम, एग्रीकल्चर आफिसर बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा-दुर्गागंज राजीव कुमार एवं एग्रीकल्चर आाफिसर बैंक ऑफ बड़ौदा बलीपुर विदिशा, जिला उद्यान अधिकारी डॉ0 सीमा सिंह राणा उपस्थित रहे। संयुक्त निदेशक (शाकभाजी) लखनऊ डॉ0 बी0बी0 द्विवेदी द्वारा बताया गया कि मशरूम इकाई की स्थापना से उद्यमी आत्म भारत निर्भर की ओर अग्रसर हो रहे है तथा मशरूम यूनिट की स्थापना को दिये जा रहे अनुदान की जानकारी दी गयी, जिसमें इकाई की स्थापना पर 40 प्रतिशत अनुदान अधिकतम धनराशि रू0 22.00 लाख प्रदान किया जा रहा है एवं पॉली हाउस/शेडनेट हाउस पर 50 प्रतिशत का अनुदान दिया जा रहा है साथ ही ग्राम-गोबरी, विकास खण्ड-सण्डवा चन्द्रिका में चौपाल लगाकर कृषकों को औद्यानिक योजनाओं की जानकारी प्रदान की गयी चर्चा के दौरान डॉ०सीमा सिंह राणा जिला उद्यान अधिकारी प्रतापगढ़ द्वारा नवीन उद्यान रोपण-आम अमरूद, आंवला, केला टिश्यूकल्चर, सब्जी, फूल, मशाला की खेती पर दिये जा रहे अनुदान के बारे में कृषको को जानकारी प्रदान की गयी। वही लखनऊ से आये डॉ0 बी0बी0 द्विवेदी संयुक्त निदेशक (शाकभाजी) द्वारा प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना में दी जा रही सब्सिडी की जानकारी प्रदान की गयी। नये उद्योग पुराने उद्योगों का उच्चीकरण हेतु सरकार द्वारा 35 प्रतिशत अधिकतम धनराशि रू0 10.00 लाख अनुदान प्रदान किया जा रहा है। कृषकों के उत्पादन को प्रसंस्कृत करने एवं अधिक लाभ प्रदान करने हेतु सरकार की चल रही योजनाओं से अवगत कराया गया। वही केला की खेती हेतु कृषकों को निःशुल्क पौध विभाग द्वारा दिया जा रहा है। इसकी जानकारी भी उपलब्ध करायी गयी। उमेश चन्द्र उत्तम उप निदेशक उद्यान, प्रयागराज मण्डल, प्रयागराज द्वारा कृषकों को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना में ड्रिप सिंचाई पद्धति एवं मिनी स्प्रिंकलर पर दिये जा रहे 80-90 प्रतिशत अनुदान की जानकारी एवं होने वाले लाभ जैसे पानी की 50-60 प्रतिशत की बचत, उर्वरक की 40-50 प्रतिशत की बचत के बारे में जानकारी प्रदान की गयी। वहीं विभाग में प्रोजेक्ट बेस्ड कार्यक्रम मशरूम यूनिट,पैक हाऊस,कोल्ड स्टोर,प्याज भण्डार गृह मिनीमल प्रोसेसिंग यूनिट,न्यू प्रिर्जवेशन यूनिट पर अनुदान की जानकारी कृषकों को प्रदान की गयी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here