एएसडीसी 60,000 युवाओं को देगा ऑटोमोटिव क्षेत्र के लिए प्रशिक्षण

0
92


हरेश उपाध्याय

नईदिल्ली:- ऑटोमोटिव स्किल्स डेवलपमेंट काउंसिल (एएसडीसी) का वार्षिक कॉन्क्लेव नई दिल्ली के होटल हयात में आयोजित किया गया। “कुशल युवा – समृद्ध भारत” थीम पर आधारित इस कॉन्क्लेव में 500 से अधिक वरिष्ठ नौकरशाहों और ऑटो उद्योग के प्रतिनिधि शामिल हुए।जिन्होंने भारत में ऑटो उद्योग की भूमिका के बारे में अपने दृष्टिकोण प्रस्तुत किए और स्किलिंग इकोसिस्टम से उद्योग को कैसे लाभ पहुंच सकता है, इस पर चर्चा की। इस मौके पर एएसडीसी की वार्षिक पुस्तिका का विमोचन किया। एएसडीसी ने विभिन्‍न श्रेणियों में प्रशिक्षण,भागीदारों, मूल्‍यांकनकर्ता, सहयोगी उद्योगों को विभिन्‍न पुरस्‍कारों से सम्‍मानित किया।
कॉन्‍क्‍लेव के थीम का उद्देश्‍य युवाओं का ध्‍यान कौशल के प्रति आकर्षित करना और देश का समृद्ध बनाना था। वहीं, उद्योग के साथ साझेदारी करके स्किलिंग इकोसिस्टम को और मजबूत करना था।कॉन्क्लेव में कैस्ट्रोल, रॉयल एनफील्ड,टोयोटा,युवाशक्तिफाउंडेशन,एक्साल्टा, इकोटेक,टीसीशन बतौर प्रायोजक शरीक हुए।कार्यक्रम का उद्घाटन दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त एसपी बेनीवाल, अरिंदम भट्टाचार्य, डायरेक्टर (डेवलपमेंट पार्टनर्शिप एडमिनिस्ट्रेशन ) विदेश मंत्रालय भारत सरकार और कर्नल ए के चंदेल, सीनियर हेड एंड एनएसडीसी एंड टेक्नीकल डेलिगेट असिस्टेंट, वर्ल्ड स्किल्स इंडिया ने संयुक्त रूप से किया। एएसडीसी के प्रेसिडेंट विनोद अग्रवाल ने अतिथियों का स्‍वागत करते हुए आयोजन के उद्देश्य के बारे में बताया।एनसीवीईटी के अध्यक्ष एनएस कलसी ने कहा कि कौशल की कमी को दूर करने के लिए,भारत को रोजगार में सुधार के लिए उच्च तकनीकी और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों का विस्तार करने की आवश्यकता है।दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त एसपी बेनीवाल ने कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की मदद से शुरू किए गए युवा कार्यक्रम के बारे में बताया और कहा कि युवा कार्यक्रम का उद्देश्य उन लोगों को रोजगार उन्मुख कौशल प्रदान करना है जो अपराध की दुनिया में गलती से आ गए है।विंकेश गुलाटी, कोषाध्यक्ष एएसडीसी व एफएडीए के अनुसंधान और अकादमी के चेयरमैन ने कहा कि एएसडीसी इस वित्‍तीय वर्ष में ऑटोमोटिव क्षेत्र के लिए 60,000 युवाओं को प्रशिक्षण देगा। सरकार के सहयोग से इंडस्‍ट्री और युवाओं दोनों को लाभ हो रहा है।एएसडीसी के प्रेसिडेंट विनोदअग्रवाल ने यह भी बताया कि भारतीय ऑटो उद्योग कई तरह के बदलाव से गुजर रहा है।एएसडीसी के सीईओ अरिंदम लाहिरी ने कहा कि एएसडीसी कई कंपनियों के साथ मिलकर युवाओं को कुशल बना रही है और पुराने कुशल लोगों को विभिन्‍न कार्यक्रम के जरिये उनके हुनर को प्रमाणित कर रही है।सीनियर पीआरओ प्रेम सिंह ने सभी आंगतुकों व अतिथियों का हृदय से आभार व्यक्त किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here