कार्य में लापरवाही पाये जाने पर संबंधित अधिकारी के विरुद्ध कठोर कार्यवाही होगी- स्वतंत्र देव सिंह

0
82

न्यूज़ ऑफ इंडिया ( एजेंसी )


लखनऊ: प्रदेश के जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने आज तेलीबाग स्थित परिकल्प भवन सिंचाई विभाग के सभागार में सिंचाई एवं जलसंसाधन विभाग द्वारा कराये जा रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि विकास से संबंधित कोई भी पत्रावली लम्बित न रहे। उन्होंने कहा कि पत्रावलियों को 07 दिन के अंदर निस्तारण कर दिया जाये, ताकि विकास के कार्यों में कोई बाधा उत्पन्न न होने पाये। इस कार्य में लापरवाही पाये जाने पर संबंधित अधिकारी के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी।
जलशक्ति मंत्री ने अधिकारियों से कहा कि लम्बित परियोजनाओं को समय से पूर्ण कराया जाए। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय स्तर पर उपजिलाधिकारी को इस कार्य हेतु नोडल बनाया जाए। जिससे परियोजनाओं में क्षेत्रीय स्तर पर आने वाली बाधाओं को अवगत कराते हुए दूर कराया जा सके। इसके अलावा मुख्यालय स्तर से शीघ्र निस्तारण कराया जा सके। उन्होंने कहा कि जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए विकास से संबंधित प्रस्ताव तैयार कराया जाए, जिससे कि जनता को इसका लाभ अधिक से अधिक मिल सके।
श्री सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी मुख्य अभियन्ता अपनी डायरी बनायें, जिसमें वह कितने कार्य पूर्ण हैं तथा कितने अवशेष बचे हुए हैं इसका उल्लेख किया जाये। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि निर्माणाधीन परियोजनाओं की मॉनीटरिंग नियमित रूप से किया जाए। सभी परियोजनाओं के बारे में लगातार समीक्षा करें तथा उन परियोजनाओं को हरसम्भव पूर्ण करायें, ताकि इसका लाभ ससमय जनता को मिल सके।
जलशक्ति मंत्री ने कहा कि शारदा सहायक समादेश के विकास कार्यों को अतिशीघ्र पूरा कराया जाए। सभी परियोजनाओं को सूचना मुख्यालय पर उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि सभी जनपदों को जनप्रतिनिधियों के द्वारा दिए गये प्रस्ताव को अवगत करायें, ताकि उनके प्रस्तावों पर विचार किया जा सके। उन्होंने कहा कि 50 से 100 किलोमीटर तक नहरों के किनारे गड्ढामुक्त सड़कों की रिपोर्ट प्रस्तुत करें ताकि उनका औचक निरीक्षण किया जा सके।
श्री सिंह ने विभागीय अधिकारियों से कहा कि वे विभाग के प्रति समर्पण भावना से कार्य करें। आप लोग विभाग का कद और आगे बढ़ाएं, जिससे कि सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग सम्मान और बढ़ सकें। उन्होंने कहा कि जब विभाग का सम्मान और आगे बढ़ेगा तब सिंचाई विभाग की छवि में और निखार आयेगा।
सिंचाई एवं जलसंसाधन विभाग के प्रमुख सचिव अनिल गर्ग ने विभागीय अधिकारियों से कहा कि वे अपने-अपने जनपदों में पूर्ण कराये गये विकास कार्यों को सोशल मीडिया पर अपलोड करें। उन्होंने मा0 मंत्री जी को विभाग द्वारा कराये जा रहे कार्यों के बारे में विस्तार से अवगत कराया। उन्होंने मंत्री को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा दिये गये निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन कराया जायेगा।
इस समीक्षा बैठक में जलशक्ति राज्यमंत्री रामकेस निषाद व अन्य वरिष्ठ विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here