प्रयागराज में आवास देने के नाम पर ग्राम प्रधान ने दिव्यांग से मांगी सुविधा शुल्क

0
47

सरकार के द्वारा ग़रीबों को पक्की छत देने के उद्देश्य से भले ही प्रधानमंत्री आवास जैसी योजना का संचालन किया गया। लेकिन आज यह योजना ग्राम प्रधानों के भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी और पात्रों की जगह अपात्रों को ग्राम प्रधान सुविधा शुल्क लेकर पीएम आवास योजना का लाभ दे रहे हैं। कुछ इसी तरह की शिकायत जसरा विकास खंड के अंतर्गत आने वाली ग्राम सभा असरवइ के रहने वाले दिव्यांग पति-पत्नी के द्वारा उप जिलाधिकारी बारा के समक्ष पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई गई, कि ग्राम प्रधान के द्वारा उन्हें आवास देने के नाम पर सुविधा शुल्क मांगी जा रही है।
असरवइ गांव की ही रहने वाली उर्मिला देवी ने बताया कि उनके पति दिव्यांग हैं और जब वह दोनों गांव के ग्राम प्रधान पीतांबर लाल बिंद से प्रधानमंत्री आवास देने की गुहार लगाई गई तो ग्राम प्रधान ने उनसे आवास देने के नाम पर बीस हजार की मांग की, जिसके कारण यह गरीब पैसा देने में असमर्थ होने के कारण आवास का लाभ नहीं पा सके।
वहीं उर्मिला देवी ने यह भी बताया कि इसी बात की शिकायत करने वह तहसील मुख्यालय पर पहुंचकर उप जिलाधिकारी से शिकायत की और गांव में अपात्रों को दिए गए आवास की जांच करा कर के गरीबों को आवास दिलाने की गुहार लगाई। अपितु या जसरा विकासखंड के एक गांव की बात नहीं है कई अन्य ग्राम सभाओं में भी इसी तरह से अपात्रों को पीएम आवास योजना का लाभ दिया गया तो गरीब आज भी टूटी फूटी झोपड़ी में ही रह रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here