प्रयागराज में डॉक्टर दे पर निशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन

0
195



रंजीत निषाद


प्रयागराज । 1 जुलाई डॉक्टर डे के अवसर पर मां शारदा हॉस्पिटल बहराना के तत्वधान में हॉस्पिटल के निदेशक डॉ राजकिशोर अग्रवाल जनरल सर्जन के नेतृत्व में शुक्रवार को सिविल लाइंस के पत्थर गिरजाघर धरना स्थल पर एक स्वास्थ शिविर का आयोजन किया गया जिसमें बड़ी संख्या में राहगीरों पुलिसकर्मी व मीडिया के तमाम पत्रकारों ने इस शिविर में ब्लड प्रेशर शुगर व अन्य समस्या से संबंधित रोगों की जांच की गई रोबो से निजात के लिए चिकित्सकों द्वारा परामर्श भी दिया गया तथा दवा का भी वितरण किया गयो इस शिविर में डॉ मंजू अग्रवाल डॉ आर के सिंह महेंद्र सिंह आदित्य केसरवानी सुधीर सिंह वह इतने विशेष योगदान दिया शिविर में लगभग 200 से ज्यादा लोगों ने इस निशुल्क शिविर स्वास्थ्य का लाभ उठाया इस डॉक्टर डे के शुभ अवसर पर पत्रकारों से बात करते हुए डॉ राजकिशोर अग्रवाल ने बताया कि डॉक्टर डे का आयोजन हम हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी निशुल्क स्वास्थ्य शिविर लगाकर कर रहे है और हम 1 जुलाई को डॉक्टर डीजी राय की स्मृति में यह दिन मनाते है।
डाक्टर को धरती पर भगवान का दर्जा दिया जाता है,क्योंकि भगवान के बाद डॉक्टर ही किसी भी व्यक्ति को नया जन्म देता है और किसी भी व्यक्ति की जिंदगी के प्रति उम्मीद जगाता है। उन्हें जीवनदाता कहा जाता है। डॉक्टर एक ऐसा इंसान होता है, जो इंसान के रूप में भगवान होता है, हमें कौन सी भी बीमारी या रोग हो जाये तो हम सबसे पहले डॉक्टर के पास जाते है,डॉक्टर न सिर्फ मनुष्य के जन्म होने में मद्द करता है, बल्कि वह किसी व्यक्ति को मृत्यु से भी बचाता हह्य।
डॉक्टर लोगों को दवाई लेने से ज्यादा खुद का ख्याल रखने और खुद के जीवन से प्यार करना सिखाते है। इसलिए डॉक्टरों के महत्व को समझने के लिए एवं डॉक्टर्स के जीवन बचाने के प्रति त्याग और समर्पण और ईमानदारी के प्रति सम्मान जाहिर करने के लिए हर साल 1 जुलाई को डाक्टर डे मनाया जाता है।
डॉक्टर को धरती पर भगवान का रूप माना जाता है। वैसे सच भी कहा गया है कि जो आपका जीवन रक्षक हो वह भगवान नहीं तो और क्या है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here