बीजेपी नेता की दूसरी पत्नी ने सुनाई अपनी आपबीती,14 साल साथ रहे नेता जी,अब नहीं मान रहे पत्नी, मुख्यमंत्री से करूंगी शिकायत

0
93

बरेली। उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले की बिनावर विधानसभा से पांच बार विधायक रहे रामसेवक सिंह पटेल ने अपनी पत्नी भाग्यश्री उर्फ राजेश्वरी के खिलाफ न्यायालय में परिवाद दायर कराया है।पूर्व विधायक ने भाग्यश्री को अपनी पत्नी मानने से इनकार कर दिया है।इसमें लिखाया है कि भाग्यश्री उनके घर आकर सहमति से साथ रहने लगी थीं।
भाग्यश्री ने 20 जून को सिविल लाइंस थाने में भारतीय जनता पार्टी के पूर्व विधायक रामसेवक सिंह पटेल, उनके भाई इटावा मेडिकल कॉलेज के सेवानिवृत्त प्रोफेसर महेंद्र सिंह पटेल, बेटे रोहित, पुत्रवधू पिंकी राठौर और पहली पत्नी की बेटी बरेली की जिला पंचायत अध्यक्ष रश्मि पटेल के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी।भाग्यश्री का आरोप था कि उसके नाम एक मकान, एक कार, एक पिस्टल और दो स्कूटी थीं। यह सब छीनकर उसे पीटकर घर से निकाल दिया गया और केरोसिन डालकर जान लेने की कोशिश की गई थी।
भाग्यश्री के मुताबिक वर्ष 2007 में उनकी शादी पूर्व विधायक रामसेवक पटेल के साथ हुई थी। उनका आरोप है कि उस वक्त उसे यह नहीं बताया गया था कि पूर्व विधायक की पहले भी तीन शादियां हो चुकी हैं। उनके बच्चे भी हैं। भाग्यश्री के अनुसार उसकी सिर्फ एक 14 वर्षीय बेटी दिशा पटेल है। उसको भी कई दिनों से यातनाएं दी जा रहीं थीं।
पूर्व विधायक रामसेवक सिंह पटेल का कहना है कि उनका मकान मधुवन कॉलोनी में है। मकान कीमत साढ़े 28 लाख रुप‌ए है।बेटा और उसकी पत्नी अलग रहते थे।एक मित्र ने उन्हें राय दी थी कि एक गर्भवती महिला है, जो यहां आकर रह लेगी।इससे पूर्व विधायक का भी सहारा हो जाएगा। इस पर वह राजी हो गए। 2008 में भाग्यश्री उसके घर आकर रहने लगी। 27 जून, 2008 को उसने एक बच्ची को जन्म दिया।
पूर्व विधायक रामसेवक सिंह पटेल का कहना है कि जब वह घर नहीं होते थे, तो आने वालों को भाग्यश्री खुद को उनकी पत्नी बताती थी,जबकि वह उनके साथ सहमति से रह रही थी। उन्होंने मकान का बैनामा राजेश्वरी के नाम कराया था। उसका भुगतान स्वयं उन्होंने किया था। ऐसे में वह मकान उनका है।हमने मकान को लेकर न्यायालय में परिवाद दायर कराया है। उस मकान को हमने खरीदा था। उसका भुगतान भी किया,लेकिन क्रेता के स्थान पर राजेश्वरी का नाम डलवा दिया गया। उन्होंने हमारे खिलाफ कई मामले दर्ज कराए हैं। अब यह न्यायालय का मामला है। न्यायालय में साक्ष्यों के आधार पर सुनवाई होगी।
भाग्यश्री उर्फ राजेश्वरी का कहना है कि रामसेवक पटेल झूठ बोल रहे हैं।मेरी भी उनसे दूसरी शादी हुई है।मेरी एक बेटी है। वह बाहर रहकर पढ़ाई कर रही है।पूर्व विधायक उसके पिता हैं। जन्म प्रमाणपत्र पर उनका ही नाम लिखा है। वह पंद्रह साल की हो चुकी है। मेरा मकान, कार, पिस्टल और स्कूटी आदि सब छीन लिए हैं। पुलिस भी पूर्व विधायक का कहना मान रही है। अब मैं मुख्यमंत्री के सामने पेश होकर कार्रवाई की मांग करूंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here