योगी सरकार ने माफिया मुख्तार अंसारी के परिवार पर कसा शिकंजा,पत्नी और विधायक बेटे को पुलिस ने किया भगोड़ा घोषित

0
126

लखनऊ।योगी आदित्यनाथ सरकार उत्तर प्रदेश में माफियाओं के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही है।इसी कड़ी में योगी सरकार ने मऊ के पूर्व विधायक माफिया मुख्तार अंसारी के परिवार के खिलाफ कार्रवाई की है।मऊ पुलिस ने मुख्तार की पत्नी अफसा अंसारी, समाजवादी पार्टी से विधायक बेटा अब्बास अंसारी और साले को भगोड़ा घोषित किया है।ये कार्रवाई इसलिए हुई है क्योंकि पुलिस ने हाल ही में विधायक अब्बास अंसारी और अफसा अंसारी को गिरफ्तार करने के लिए कई जगहों पर छापेमारी की थी,लेकिन पुलिस का हाथ खाली रहा।

आपको बता दें कि कोर्ट से जारी गैर जमानती वारंट के बाद भी ये लोग पुलिस की पकड़ से बाहर हैं।इसलिए मऊ पुलिस अधीक्षक अविनाश पांडे ने ये एक्शन लिया है। तीन थानों की पुलिस मुख्तार के गाजीपुर पैतृक आवास सहित चार ठिकानों पर गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर चुकी है और नोटिस भी चस्पा कर चुकी है, लेकिन कोर्ट के आदेश की अवहेलना और पुलिस को चकमा देकर मुख्तार का परिवार फरार है।

जानें क्या है पूरा मामला

पुलिस माफिया मुख्तार अंसारी के विधायक बेटे अब्बास अंसारी की तलाश में जुटी है।अब्बास को ढूंढ़ने के लिए पुलिस मऊ, गाज़ीपुर, लखनऊ और दिल्ली तक छापेमारी कर चुकी है। सपा विधायक अब्बास अंसारी के खिलाफ 2019 में राजधानी लखनऊ के महानगर कोतवाली में मामला दर्ज हुआ था।अब्बास खिलाफ गलत तरीके से शस्त्र लाइसेंस दिल्ली ट्रांसफर करने का केस दर्ज किया गया है।अब्बास के खिलाफ मुकदमे में पुलिस चार्जशीट लगा चुकी है, जिसके बाद कोर्ट ने अब्बास के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया है।कोर्ट ने पुलिस को अब्बास अंसारी को 27 जुलाई तक हाजिर करने का आदेश दिया है।मुख्तार की पत्नी अफसा और विधायक बेटे अब्बास की अलग-अलग मामलों में गिरफ्तारी के लिए मऊ पुलिस ने सोमवार को गाजीपुर में कई स्थानों पर दबिश दी थी, लेकिन पुलिस को दोनों में से कोई भी नहीं मिला।



अपराध से अर्जित संपत्ति की गई कुर्क

सीओ नगर धनंजय मिश्रा ने बताया कि मऊ पुलिस ने गाजीपुर जिले के यूसुफपुर, मोहम्मदाबाद और गाजीपुर शहर में अब्बास और अफसा के आवासों और उनके रिश्तेदारों के यहां दबिश दी, हालांकि वे दोनों कहीं नहीं मिले। उन्होंने बताया कि मऊ में स्थित एफसीआई के गोदाम को मुख्तार अंसारी द्वारा अपराध से अर्जित संपत्ति घोषित करते हुए सरकार ने उसे कब्जे में ले लिया है। इस मामले में मुख्तार की पत्नी अफसा,साले और एक अन्य सहयोगी को आरोपी बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here