यौमे अब्बास मे पुरी रात होता रहा नौहा मातम और तकरीर मे हुसैन ए मज़लूम का ज़िक्र

0
90

सिपाहे इमाम हुसैन तन्ज़ीम दरियाबाद के ज़ेरे ऐहतेमाम अब्बास कालोनी मे यौमे अब्बास मे रात भर होता रहा करबला के शहीदे आज़म इमाम हुसैन ,सक़्क़ा ए हरम ग़ाज़ी अब्बास ,चौथे इमाम ज़ैनुलआब्दीन व जनाबे सकीना का ज़िक्र।शायर ए अहलेबैत वसीम अम्बर की निज़ामत मे शहर की मातमी अन्जुमनों ने रात भर पढ़े नौहे तो अक़ीदतमन्द शब्बेदारी कर शहीदों पर गिरया करते रहे।नौहों और मातम का दौर शुरु होने से पहले मौलाना सैय्यद अम्मार ज़ैदी ने एक एक शहीदों की अज़ीमुश्शान शहादत का पुरदर्द वाक़ेया सुनाया तो लोगों की आँखे भर आईं।अन्जुमन नक़विया ,अन्जुमन मज़लूमिया ,अन्जुमन असग़रिया ,अन्जुमन मोहाफिज़े अज़ा ,अन्जुमन हैदरी ,अन्जुमन हुसैनिया रजिस्टर्ड ,अन्जुमन मोहाफिज़े अज़ा क़दीम ,अन्जुमन हुसैनिया क़दीम के नौहाख्वानों ने सिलसिलेवार नौहा पढ़ा।मौलाना आमिरुर रिज़वी ने अलवेदाई तक़रीर मे ग़मगीन मसायब पढ़े तो लोगों ने जनाबे सय्यदा को उनके लाल हुसैन व अन्य 71 शहीदों को आँसूओं के नज़राने के साथ पुरसा पेश किया।अमन ज़ैदी ने खुसूसी नौहा पढ़ कर माहौल को संजीदा बना दिया।आखिर में अलम ज़ुलजनाह व ताबूत के साथ नौहा और मातम करते हुए जुलूस भी निकाला गया।क्षेत्रिय पार्षद फसाहत हुसैन ,बाक़र नक़वी ,रौनक़ सफीपुरी ,हसन नक़वी ,ग़ुलाम अब्बास ,शाह बहादर ,शाहरुक़ हुसैनी ,सैय्यद मोहम्मद अस्करी ,राजन अब्बास ,अरशद ,इरशाद हुसैन,आसिफ रिज़वी ,शानू नक़वी ,अकबर रिज़वी ,आदि शामिल रहे।

इमाम हुसैन व अन्य 71 शहीदों का चेहलुम 18 सितम्बर रविवार को

जैसे जैसे माहे सफर उल मुज़फ्फर का दिन बीत रहा है और अरबईन का दिन क़रीब आ रहा है वैसे वैसे मजलिस मातम और जुलूस व शब्बेदारी मे रतजगा बढ़ गया है दिन और देर रात तक ज़िक्रे हुसैन शबाब पर है।दरियाबाद ,करैली , रानीमण्डी ,बख्शी बाज़ार ,रौशनबाग़ समेत अन्य मुस्लिम बहुल्य इलाक़ो मे इमाम हुसैन के शैदाई रात रात भर जाग कर करबला के बलीदानी को शिद्दत से याद कर ग़म मनाने मे मशग़ूल हैं। इसी क्रम मे इमाम बारगाह नवाब आज़म हुसैन खाँ में 9 सितम्बर शुक्रवार (11 सफर ) से 17 सितम्बर शनिवार (19 सफर )तक प्रातः 8 बजे अलग अलग मौलानाओं की तक़रीर और ज़िक्रे शोहदाए करबला होगा।वहीं 18 सितम्बर रविवार (20 सफर )को यौमे अरबईन पर प्रातः 8:30 बजे ज़ियारते अरबईन 8:45 पर मजलिस ए चेहलुम को मौलाना जव्वादुल हैदर रिज़वी साहब क़िबला खेताब करेंगे।अन्जुमन हुसैनिया क़दीम ,अन्जुमन शब्बीरिया व अन्जुमन अब्बासिया नौहा और मातम करते हुए जुलूस मे शिरकत करेगी।जुलूस रानीमण्डी ,बच्चा जी धरमशाला ,चड्ढ़ा रोड ,कोतवाली ,नखास कोहना ,खुलदाबाद ,हिम्मतगंज होते हुए चकिया स्थित शिया क़ब्रिस्तान करबला पर सम्पन्न होगा।जुलूस के दौरान अव्वले वक़्त नमाज़ ए ज़ोहरैन मौलाना जवादुल हैदर की क़यादत मे बाजमात अदा की जाएगी।नमाज़ से पहले जुलूस के आगे आगे बुज़ुर्ग मर्सियाख्वान ज़ायर हुसैन क़दीमी रवायत के अनुसार मर्सियाख्वानी करेंगे।कोतवाली व नखास कोहना पर तेज़ धार की छूरीयों से क़मा व ज़न्जीरो का मातम भी किया जाएगा।कुछ नवजवान ईरानी स्टाईल की ज़न्जीरों का मातम भी करेंगे।अन्जुमन मज़लूमिया अन्जुमन हैदरिया अन्जुमन आबिदया की ओर से भी चेहलुम का क़दीमी जुलूस इन्ही परमपरागत मार्गो पर निकाला जायगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here