वसूली गैंग चला अवैध तरीके से जमीनों पर कब्जा कर अरबों के मालिक बने सपा विधायक इरफान सोलंकी जांच में हुआ खुलासा

0
47

सपा विधायक इरफान सोलंकी के साथ-साथ उनके गैंग की भी मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं विधायक और उनके भाई समेत पांच लोगों पर गैंगस्टर लगाने के बाद पुलिस ने अपनी जांच की कार्यवाही तेज कर दी है जांच में सामने आया है कि विधायक लोगों से वसूली समेत जमीनों पर कब्जा करने का गैंग चला रहे थे जिससे उन्होंने अरबों की संपत्ति अर्जित की थी वही विधायक की गलत तरीके से बनाई गई संपत्ति जप्त करने की दिशा में अब तक 10 करोड़ों की प्रॉपर्टी चिन्हित कर ली गई है इसमें उनकी कोठी समेत तीन मकान दो फैक्ट्रियां और कई निर्माणाधीन साईटे शामिल है बता दें कि जमीन संबंधी मामलों में विधायक इरफान सोलंकी और उनके करीबियों को कानपुर विकास प्राधिकरण लगातार बचा रहा था यह गंभीर आरोप दुर्गा विहार निवासी विमल कुमार ने पिछले दिनों जाजमऊ थाने में लिखित रूप से तहरीर देकर लगाए थे जिसके बाद विधायक इरफान 3 जून के उपद्रव के मुख्य आरोपी बिल्डर हाजी वसी शाहिद लारी और कमर आलम के खिलाफ जाजमऊ थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था तहरीर में न केवल आरोपितों के खिलाफ शिकायत थी बल्कि केडीए भी सवालों के घेरे में था गौरतलब है कि विधायक ने मेहरबान सिंह का पुरवा स्थित गोपालपुर मे अपने विश्वासपात्र ठेकेदार के नाम से करोड़ों रुपए कीमत का गेस्ट हाउस बनवाया था साथ ही विधायक ने नौरैया खेड़ा और आशियाना स्कीम नंबर 6 जाजमऊ के अलावा नोएडा में भी दो फ्लैट खरीदे हैं सूत्र बताते हैं कि विधायक के इशारे पर उनके करीबी बिल्डरों ने सरकारी मलिन बस्तियों में भी इमारतें खड़ी कर करोड़ों रुपए कमाए हैँ वही विधायक के व्यापारिक संबंधी बिल्डर हाजी वसी की कंपनी हमराज कंस्ट्रक्शन में इरफान की पत्नी नसीम सोलंकी के हिस्से की भी अभी काफी जमीन बिकनी बाकी है
अब महाराजगंज जेल में बंद हैं इरफान सोलंकी,चला रहे थे वसूली गैंग
विधायक इरफान सोलंकी पर कानूनी शिकंजा कसा तो उन्होंने कानपुर कमिश्नर के ऑफिस में सरेंडर कर दिया था कानपुर जेल में तमाम लोगों की मिलाई से परेशान होकर जेल प्रशासन ने उन्हें महाराजगंज जेल में शिफ्ट कर दिया है साथ ही साथ कानपुर में इरफान सोलंकी पर कानूनी कार्यवाही को लीड कर रहे आईपीएस ज्वाइंट कमिश्नर ऑफ पुलिस आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया कि सपा विधायक व उनके भाई रिजवान समेत पांच लोगों पर गैंगस्टर एक्ट की कार्यवाही की गई थी जांच में पाया गया है कि विधायक लोगों से वसूली जमीनों पर कब्जा और रंगदारी वसूलने का गैंग चला रहे थे खून की काली कमाई से खड़ी करी गई करोड़ों की संपत्ति गैंगस्टर एक्ट के तहत जप्त की जाएगी इसी के तहत उनकी दस करोड़ रुपए की संपत्ति भी चिन्हित कर ली गई है यह संपत्ति विधायक इरफ़ान ने विधानसभा चुनाव के दौरान अपने घोषणा पत्र में भी दाखिल की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here