विशेष फंड बनाकर वैश्य समाज के लोगों को दी जाएगी आर्थिक मदद:नन्दी

0
87
- वैश्य समाज के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को मजबूत करेगा अखिल भारतीय महासम्मेलनः नन्दी
- बिना ब्याज के दी जाएगी आर्थिक सहायता
- वैश्य समाज के वरिष्ठ जन इकट्ठा करेंगें फंड
- अखिल भारतीय वैश्य महासम्मेलन की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में लिया गया निर्णय
- शिक्षा, राजनीति, व्यापार के साथ ही हर क्षेत्र में वैश्य समाज के लोगों को आगे बढ़ाने का होगा पूरा प्रयासः नन्दी

अखिल भारतीय वैश्य महासम्मेलन की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में शनिवार को उत्तर प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। जिन्होंने बैठक में वैश्य समाज के पिछड़े, कमजोर और मजबूर लोगों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने एवं बिना किसी ब्याज के आर्थिक मदद देने के लिए फंड बनाने का सुझाव रखा। जिस पर सभी ने स्वीकृति प्रदान करते हुए, समाज के मजबूत लोगों की मदद से एक वृहद फंड बनाने का निर्णय लिया। निर्णय के साथ ही मंत्री नन्दी व अखिल भारतीय वैश्य महासम्मेलन के अन्य पदाधिकारियों ने भी फंड के लिए एक बड़ी धनराशि दिए जाने की घोषणा की।
मंत्री नन्दी ने कहा कि देश एवं प्रदेश की आर्थिक व्यवस्था को मजबूत बनाने में वैश्य समाज के लोगों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। फिर भी आज वैश्य समाज में ही बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं, जो आर्थिक रूप से काफी कमजोर हैं। ऐसे लोगों को हम सब को मिल कर मजबूत बनाना पड़ेगा, उन्हें अपने पैरों पर खड़ा करना पड़ेगा। बहुत से लोग ऐसे हैं, जो व्यापार के लिए कर्ज तो ले लेते हैं, लेकिन मूल के साथ ही ब्याज के बोझ तले दब जाते हैं। ऐसे लोगों को बिना ब्याज के आर्थिक मदद मिल सके, इसके लिए एक फंड बनाने की जरूरत है। मंत्री नन्दी ने कहा कि शिक्ष, व्यापार, राजनीति, मेडिकल, इंजीनियरिंग के साथ ही हर क्षेत्र में समाज के लोगों और युवाओं को आगे बढ़ाना होगा।
सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए महापौर अभिलाषा गुप्ता नन्दी ने कहा कि प्रदेश और देश के विकास को वैश्य समाज सर्वाधिक गति देता है। वैश्य समाज देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। वैश्य समाज ने कड़ी मेहनत के बलबूते देश में अपना एक अहम स्थान बनाया है। वैश्य समाज सेवा के क्षेत्र में भी हमेशा ही अग्रणी रहा है। वैश्य समाज के लोगों ने स्कूल, कॉलेज, धर्मशालाओं को बनवाने से लेकर सदैव जरूरतमंदों की मदद की है।
इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) कपिल देव अग्रवाल, उत्तर प्रदेश सरकार मंत्री रविन्द्र जायसवाल, अखिल भारतीय वैश्य समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष गिरीश संघी, राष्ट्रीय महामंत्री गोपाल मोर एवं उमेश अग्रवाल, प्रदेश अध्यक्ष सुधीर हलवासिया, प्रदेश महामंत्री भरत भूषण गुप्ता एवं शैलेन्द्र अग्रहरि, कार्यक्रम संयोजक विदुप अग्रहरि, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य लालू मित्तल एवं विकास गुप्ता, प्रदेश मंत्री सुशांत केशरवानी, प्रदेश उपाध्यक्ष संजय गुप्ता (पूर्व विधायक), प्रयागराज सिविल डिफेन्स के चीफ वार्डन अनिल कुमार गुप्ता अन्नू भैया, पूर्व राज्य मंत्री नितिन गुप्ता, स्थानीय कार्यकारिणी सदस्य मनीष गुप्ता, विजय गुप्ता, शिखा रस्तोगी, रोशनी अग्रवाल, राजकुमार गुप्ता, बबलू जारी, कानपुर क्षेत्र के उद्यमी योगेश अग्रवाल एवं श्रीमती सरोजनी अग्रवाल, कोटा राजस्थान से पूनम गोयल एवं कौशल्या अग्रवाल, मेरठ क्षेत्र की रीता मित्तल, कौशल्या विजयवर्गीय, अलीगढ़ से राकेश साईं, बेंगलुरु से रावरतन अग्रवाल, जयपुर राजस्थान से चौथमल भगोरिया, लखनऊ से के.एल.गुप्ता, मुरादाबाद से विनय लोहिया, चंडीगढ़ से विनय गुप्ता समेत देश के विभिन्न हिस्सों से आये वैश्य समाज के गणमान्य जनों की उपस्थिति रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here