07 नवम्बर से 11 नवम्बर तक प्रवर्तन टीम द्वारा चलाये गये अभियान से कुल 44.91 लाख रूपये प्रशमन शुल्क की हुई वसूली

0
51

लखनऊः उत्तर प्रदेश के परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दयाशंकर सिंह के निर्देशों के क्रम में 07 नवम्बर से 11 नवम्बर, 2022 तक जनपद लखनऊ में प्रवर्तन टीम ने अनधिकृत संचालित एवं ओवरलोड मालयानों के विरूद्ध अन्तरजनपदीय अभियान चलाया। प्रवर्तन टीम ने इस दौरान 840 वाहनों का चालान, 104 वाहनों को बंद एवं अनधिकृत संचालित 169 बसों का चालान एवं 10 बसों को सीज किया। इसी प्रकार 103 ओवरलोड मालयानों का चालान एवं 57 ओवरलोड मालयानों को सीज किया गया। इस कार्यवाही से 44.91 लाख रूपये प्रशमन शुल्क वसूला गया।
यह जानकारी उप परिवहन आयुक्त निर्मल प्रसाद ने आज दी। उन्होंने बताया कि 19.31 लाख रूपये कर के रूप में प्राप्त किया गया। प्रवर्तन टीम द्वारा इस कार्यवाही का लक्ष्य अनधिकृत बसों के संचालन एवं ओवरलोड मालयानों पर अंकुश लगाना था। प्रवर्तन टीम समय-समय पर आगे भी अभियान चलाती रहेगी। जिससे कि अनधिकृत संचालन एवं ओवरलोडिंग पर प्रभावी अंकुश लगाया जा सका।
निर्मल प्रसाद ने बताया कि इसके अतिरिक्त परिवहन विभाग द्वारा मासिक प्रवर्तन कार्यवाही के अंतर्गत अनधिकृत बस संचालन एवं ओवरलोड वाहनों के खिलाफ 01 नवम्बर से 13 नवम्बर तक लखनऊ परिक्षेत्र में कुल 5526 वाहनों का चालान किया गया तथा 591 वाहनों को बंद किया गया और इससे कुल 232.84 लाख रूपये प्रशमन शुल्क वसूल किया गया। उन्होंने बताया कि अनधिकृत बस संचालन एवं ओवरलोड वाहनों के खिलाफ 01 नवम्बर से 13 नवम्बर तक की गई कार्रवाई में 219 बसों का, 800 ट्रकों का तथा 4507 अन्य वाहनों का चालान किया गया। इसी प्रकार 33 बसों, 286 ट्रकों व 272 अन्य वाहनों को इस दौरान बन्द करने की कार्यवाही की गयी।

NEWS OF INDIA
(NEWS AGENCY)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here