बाल विवाह जैसी कुप्रथा को ख़त्म करने के लिए शिक्षा का बूस्टर डोज लेना जरूरी- अभय

0
29

मोहम्मद फिरोज़ प्रतापगढ


प्रतापगढ़ सात दिवसीय चाइल्डलाइन दोस्ती से सप्ताह अभियान के तहत आज बाल दिवस के अवसर बाल विवाह एवं जेण्डर समानता पर चाइल्डलाइन 1098 द्वारा पंडित सुखराज रघुनाथी इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी रंजीतपुर चिलबिला प्रतापगढ़ के सभागार चाइल्डलाइन व तरुण चेतना के संयुक्त तत्वाधान में कार्यक्रम का आयोजन किया गया कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रज्वलित करके किया गया।
जिसमें छात्र छात्राओं ने खुल कर अपनी बात रखी इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला बाल संरक्षण अधिकारी अभय शुक्ला ने कहा कि बाल विवाह जैसी कुप्रथा को ख़त्म करने के लिए शिक्षा का बूस्टर डोज लेना जरूरी है।
शिक्षा के बल पर ही हमारी बेटियां हर मुश्किल का सामना कर सकती हैं। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में एंटी हुमन ट्रैफकिंग के प्रभारी चंचल सिंह ने चाइल्ड लाइन के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि जहाँ भी बाल विवाह की सूचना मिले तुरंत चाइल्डलाइन-1098 पर काल करें। बाल विवाह जैसी कुप्रथा को रोकना होगा। इस अवसर पर चाइल्डलाइन के निदेशक नसीम अंसारी ने बच्चों से सवाल किया कि आखिर दहेज के कारण क्यों जलाई जाती हैं बेटियां। बेटियों पर यह अत्याचार हम कब तक सहन करेंगें? आईये इसे अब मिलकर बंद करें.इस अवसर पर महाविद्यालय के अध्यक्ष पूर्व खंड शिक्षा अधिकारी शिव मूर्ति त्रिपाठी ने कहा लड़कों की तरह लड़कियों को भी खूब पढ़ाना चाहिए ताकि वे अपने साथ होने वाले भेदभाव और हिंसा का हिसाब ले सकें। बच्चों का उत्साहवर्धन करते हुए प्राचार्य शेषमणि मिश्रा ने कहा कि शिक्षा के बल पर ही गरीबों की बेटियां अमीरों की बेटियों की तरह आगे बढ़ सकती हैं।
सहायक आचार्य वेद प्रकाश मिश्रा,चाइल्डलाइन के सीटी कोऑर्डिनेटर अर्पित श्रीवास्तव,चाइल्ड फंड इंडिया के कोऑर्डिनेटर ओ.पी. श्रीवास्तव ने भी अपने विचार व्यक्त किए इस कार्यक्रम का संचालन हकीम अंसारी ने किया। अंत में कार्यक्रम के संयोजक मेहताब खान ने लोगों के प्रति आभार प्रकट किया। बीनम विश्वकर्मा अभय राज यादव, रीना देवी आज का सक्रिय योगदान रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here